रविवार, 19 मई 2013

रस्ता बदल के देखिए

रस्ता बदल के देखिए 
 थोड़ा सँभल के देखिए

वो जाने किस घड़ी मिले
पलकों पे ढल के देखिए

क्यूँ रोशनी से फ़ासला
घर से निकल के देखिए

बहार ही बहार सब
... नज़र बदल के देखिए

मज़ा कहाँ यूँ ज़िस्त में
थोड़ा तो जल के देखिए

1 टिप्पणी:

  1. Excelente post nutan, muchas gracias por compartirlo, da gusto visitar tu Blog.
    Te invito al mio, seguro que te gustará:
    http://el-cine-que-viene.blogspot.com/

    Un gran saludo, Oz.

    उत्तर देंहटाएं